.Com प्रतिबंध पालीथिन पर, मगर डिस्पोजल व प्लास्टिक के दुकानदारों को परेशान कर रही पुलिस | Zila News

प्रतिबंध पालीथिन पर, मगर डिस्पोजल व प्लास्टिक के दुकानदारों को परेशान कर रही पुलिस

जौनपुर। अवैध कब्जे सहित अन्य गलत कार्यों व जगहों पर कानून का पालन न करने वाली जनपद पुलिस सोमवार को जिला मुख्यालय सहित ग्रामीणांचलों के व्यापारियों को कानून का धौंस देकर परेशान करती नजर आयी। यही कारण रहा कि ऐसे दुकानदार अपनी दुकान बंद करके बाहर बैठकर पुलिस की कार्यशैली को कोसते हुये प्रदेश सरकार के कार्यों पर चर्चा करते नजर आये। बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा गत दिवस पालीथिन पर प्रतिबंध लगा दिये जाने की घोषणा कियवा गया। इसके लिये 15 जुलाई से नियम बनाकर उस पर अमल करना भी शुरू कर दिया गया है। मुख्यमंत्री द्वारा की गयी घोषणा के अनुसार पहले चरण में 15 जुलाई से 50 माइक्रान के पालीथिन का प्रयोग बंद करवा दिया गया। साथ ही उन्होंने कहा कि दूसरे चरण में आगामी 15 अगस्त से प्लास्टिक व थर्माकोल से बने कप, गिलास, प्लेट आदि का प्रयोग प्रतिबंधित किया जायेगा। इसके बाद आगामी 2 अक्टूबर से सभी डिस्पोजल पालीबैग्स का प्रयोग पूरी तरह से बंद करा दिया जायेगा। इसके बावजूद जनपद पुलिस बिना समझे-बुझे डिस्पोजल के गिलास, कप आदि की दुकानदारों को परेशान करना शुरू कर दी। दुकान पर जाकर कानून का धौंस बनाकर कार्यवाही करने की धमकी देना शुरू कर दिया गया है। इतना ही नहीं, बीते रविवार को मछलीशहर में जबर्दस्त अभियान चलाकर प्लास्टिक के गिलास, थैली, प्लेट आदि को जब्त करते हुये दुकानदारों के खिलाफ कार्यवाही करने की बात कही गयी। इधर मंगलवार को जिला मुख्यालय पर नगर के ओलन्दगंज, चहारसू, कोतवाली, अलफस्टीनगंज सहित अन्य जगहों पर पुलिस द्वारा ऐसी छापेमारी की गयी जिसको देखकर लगा, मानो किसी लाखों के ईनामी बदमाश की तलाश की जा रही है। फिलहाल पुलिस की कार्यशैली से ऐसा प्रतीत होता है कि या मुख्यमंत्री के चरणबद्ध आदेश को पुलिस विभाग नहीं जानता है या पुलिसकर्मियों द्वारा सरकार की निगाह में अपनी कर्तव्यनिष्ठा का परिचय दिया जा रहा है या फिर सुबह से लेकर दोपहर तक कानून का धौंस जमा कर शाम की व्यवस्था तो नहीं की जा रही है। फिलहाल इसको लेकर दुकानदारों में आक्रोश व्याप्त है।

No comments

Post a comment

Home