.Com किसान पाठशाला के पहले चरण का हुआ समापन, उमड़ी भारी भीड़ | Zila News

किसान पाठशाला के पहले चरण का हुआ समापन, उमड़ी भारी भीड़

जौनपुर। कृषि भारत की संस्कृति एवं राष्ट्र की आत्मा है। जब तक कृषि का विकास एवं किसानों में सम्पन्नता नहीं आयेगी तब तक सभी का विकास सम्भव नहीं है, इसीलिये सरकार किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिये कृषि विभाग के माध्यम से तमाम कल्याणकारी योजनाएं संचालित कर रही हैं। उक्त बातें डिप्टी पीडी आत्मा डा. रमेश चन्द्र यादव ने शनिवार को करंजाकला क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय किशुनपुर में आयोजित किसान पाठशाला के समापन समारोह को सम्बोधित करते हुये कही। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों की उन्नति के लिये कटिबद्ध है। डा. यादव ने कहा कि कृषि के क्षेत्र में विकास की अपार सम्भावनाएं हैं। बस जरूरत है कृषि की आधुनिक तकनीकियों को सीख करके देश की सभी संस्थाएं मिल-जुलकर कार्य करें तो कृषि के क्षेत्र में जरूर योगदान होगा। उन्होंने बताया कि फसल उत्पादन के साथ बागवानी, मधुमक्खी उत्पादन, पशुपालन, मत्स्य पालन, मशरूम उत्पादन आदि व्यवसायिक उद्यमों से किसान कम लागत में स्वच्छ पर्यावरण में बेहतर उत्पादन लेकर अपनी समृद्धि करके कृषि का सतत विकास कर सकते है। इसी प्रकार उप कृषि निदेशक जय प्रकाश ने धर्मापुर, भूमि संरक्षण अधिकारी प्रथम डा. ओंकार सिंह मछलीशहर, जिला कृषि अधिकारी अमित चौबे ने केराकत विकास खण्ड में संचालित किसान पाठशालाओं का निरीक्षण करके किसानों को जैव ऊर्जा संरक्षण, गन्ना की खेती, संरक्षित खेती की लाभकारी तकनीकियों से जागरूक किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता अजय कुमार व संचालन मास्टर ट्रेनर प्रहलाद ने किया। अन्त में एडीओ एजी सुरेन्द्र राय ने समस्त आगंतुकों के प्रति आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर बैंकर्स सलाहकार सीबी मिश्र, सल्गू, संतोष सिंह, भुवर बिन्द, राधिका देवी, मीना देवी, प्रमिला सहित तमाम लोग उपस्थित रहे।

No comments

Post a comment

Home