.Com हिन्दू इण्टर कालेज के पूर्व प्रधानाचार्य/वरिष्ठ पत्रकार विनय गुप्त नहीं रहे | Zila News

हिन्दू इण्टर कालेज के पूर्व प्रधानाचार्य/वरिष्ठ पत्रकार विनय गुप्त नहीं रहे

जौनपुर। हिन्दू इण्टर कालेज के पूर्व प्राचार्य व वरिष्ठ पत्रकार विनय गुप्त 95 वर्ष का बीती रात लगभग 9 बजे इलाहाबाद के एक निजी अस्पताल में उपचार के दौरान निधन हो गया। उनके मौत की खबर सुनते ही पूरे क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गयी। शोक संवेदना व्यक्त करने वालों का मुंगराबादशाहपुर स्थित उनके आवास पर तांता लग गया। परिजनों के अनुसार पत्रकारिता जगत से जुड़े श्री गुप्त पिछले कई महीनों से बीमार चल रहे थे। उनका उपचार इलाहाबाद के एक निजी अस्पताल में चल रहा था। 3 दिन पहले उनकी अचानक तबियत अत्यधिक खराब हो गयी। उन्हें इलाहाबाद के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां बीती रात उन्होंने अंतिम सांस लिया। उनका अंतिम संस्कार इलाहाबाद के रसूलाबाद घाट पर हुआ जहां तमाम राजनीतिज्ञों, शिक्षकों, पत्रकारों, समाजसेवियों, कांग्रेसजनों ने नम आंखों से उन्हें अंतिम विदाई दिया। वहीं सम्पादक मण्डल के अध्यक्ष राकेशकांत पाण्डेय, आइडियल जर्नलिस्ट एसोशिएसन के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. प्रमोद वाचस्पति, गोमती जर्नलिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष डा. राम सिंगार शुक्ल गदेला सहित सम्पादक व पत्रकार संगठनों ने श्री गुप्त के निधन पर शोक जताया।

मुंगराबादशाहपुर संवाददाता के अनुसार स्थानीय नगर के सब्जी मण्डी निवासी पत्रकारिता जगत एवं शिक्षा जगत के पुरोधा पूर्व प्रधानाचार्य विनय गुप्ता के निधन की सूचना मिलते ही नगर एवं ग्रामीण क्षेत्रों की अधिकांश शिक्षण संस्थाएं शोकसभा करके बन्द कर दी गयीं। मंगलवार को प्रातः उनकी शवयात्रा आवास से प्रारम्भ होकर नगर के दक्षिणी छोर पर स्थित हिन्दू इण्टर कालेज के प्रांगण में पहुंची जिसकी स्थापना उनके पिता स्व. यमुना प्रसाद गुप्त ने किया था। विनय गुप्त हिन्दू इण्टर कालेज में लगभग 3 दशकों से अधिक समय तक अपनी सेवाएं देते हुये प्रधानाचार्य पद को सुशोभित कर अवकाश ग्रहण किये थे। विद्यालय प्रांगण में शवयात्रा पहुंचने पर प्रधानाचार्य डा. राम सिंगार शुक्ल के नेतृत्व में शिक्षकों एवं विद्यार्थियों ने श्री गुप्त के पार्थिव शरीर पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दिया।

No comments

Post a comment

Home