.Com शिक्षा से होते हैं बच्चों के अन्तर्निहित शक्तियों के विकासः बीएसए | Zila News

शिक्षा से होते हैं बच्चों के अन्तर्निहित शक्तियों के विकासः बीएसए

जौनपुर। शिक्षा बच्चों की अन्तर्निहित क्षमता व उनके व्यक्तित्व का विकसित करने वाली प्रक्रिया है। आगे चलकर यही प्रक्रिया उसे समाज में एक सामाजिक वयस्क की भूमिका निभाने के लिये तैयार  करती है। शिक्षा द्वारा मनुष्य की जन्मजात शक्तियों का विकास, उसके ज्ञान एवं कौशल में वृद्धि एवं व्यवहार में परिवर्तन किया जाता है। इस प्रकार शिक्षा से सभ्य, सुसंस्कृत एवं योग्य नागरिक का निर्माण सम्भव है। उक्त बातें शिक्षा क्षेत्र के इंग्लिश मीडियम प्राथमिक विद्यालय सदरूद्दीनपुर के वार्षिकोत्सव पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डा. राजेन्द्र सिंह ने बतौर मुख्य अतिथि कही। इस दौरान बच्चों की अलौकिक क्षमता को देखकर उपस्थित सभी लोग भाव-विभोर हो गये जहां डा. सिंह ने कहा कि परिषदीय विद्यालयों के बच्चों में अलौकिक क्षमता छिपी हुई है। बस आवश्यकता है उसको निखारने की। इसी क्रम में खण्ड शिक्षा अधिकारी आर.एन. पाठक ने गुरूजनों से गुणवत्तापूर्ण शैक्षिक माहौल देने पर बल दिया। इसके पहले मुख्य अतिथि ने मां सरस्वती की प्रतिमा पर दीप प्रज्ज्वलन व माल्यार्पण करके कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। तत्पश्चात् बच्चों ने देशभक्ति व शिक्षाप्रद कार्यक्रम करके सभी का मन मोह लिया। साथ ही राजकीय विद्यालय सवायन के शिक्षक/कवि राहुल राज मिश्रा ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ मिशन पर अपनी काव्य पाठ से लोगों को झकझोर दिया। इसके बाद मुख्य अतिथि ने सभी प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया। इस अवसर डा. उमेश तिवारी, पंकज सिंह, दुष्यंत मिश्रा, पारस यादव, संगीता पाल आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता ग्राम प्रधान अखण्ड प्रताप सिंह व संचालन प्रभारी प्रधानाध्यापिका अनुपमा अग्रहरि ने किया।

No comments

Post a comment

Home