.Com जौनपुर के जीशान मेंहदी का यूपी पीसीएस जे में चयन | Zila News

जौनपुर के जीशान मेंहदी का यूपी पीसीएस जे में चयन

जीशान मेंहदी

जौनपुर-जनपद के मछलीशहर के मूल निवासी एस एम आले ने इलाहाबाद से सेल्स टैक्स जर्नल नाम की मैगज़ीन शुरू की और बाद में इसका प्रकाशन ग़ाज़ियाबाद से होने लगा। 90 के दशक में पूरा परिवार ग़ाज़ियाबाद शिफ्ट हो गया और वहीं से कानूनी किताबों के प्रकाशन का सिलसिला शुरू हो गया।कानूनी किताबों की दुनिया मे लॉ पब्लिकेशन नाम की फर्म जाना पहचाना नाम है।2018 तक इसे ज़ीशान मेहदी के पिता चलाते थे अगस्त 2018 में पिता की मृत्यु के बाद उनकी माँ इसकी प्रोप्राईटर हैं।ज़ीशान मेंहदी के मामा व पत्रकार सैयद हुसैन अख्तर ने बताया कि ज़ीशान की स्कूली शिक्षा पुलिस मॉडर्न स्कूल से हुई और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से लॉ की पढ़ाई की।पीसीएस जे 2016 में यूपी और बिहार दोनो का इंटरव्यू दिया लेकिन तब यूपी में चयन नहीं हुआ जबकि बिहार में फाईनल सेलेक्शन के बाद वहीं ज्वाइन किया और वर्तमान में गया ज़िले में जज के तौर पर तैनात हैं।2018 में सम्पन्न हुए यूपी पीसीएस जे के फाईनल रिज़ल्ट में ज़ीशान की 103 वीं रैंक रही।बचपन में पढ़ाई से भागने वाले ज़ीशान मेंहदी ए एम यू में पहुंचते ही किताबी कीड़े बन गए और क्लास में अच्छी पोज़ीशन हासिल करते रहे।ज़ीशान अपने चयन का श्रेय अपने माता पिता के अलावा अपने टीचरों को देते हैं।जुडिशयरी सर्विसेस में आने के लिए ज़ीशान अपने पिता की प्रेरणा बताते हैं।इनके चयन से इनके ननिहाल नसीराबाद रायबरेली,इलाहाबाद,व जौनपुर में लोगों ने प्रसन्नता व्यक्त की है।शिया धर्मगुरु सैयद सफदर हुसैन ज़ैदी ने ज़ीशान के चयन को ज़िले की इज़्ज़त बढ़ाने वाला बताते हुए नौजवानों से कहा है कि वह राजनैतिक मामलों से दूरी बना कर मेहनत के साथ पढ़ाई करें और बड़े ओहदों पर पहुंच कर मुल्क की ईमानदारी से खिदमत करें मौजूदा राज्य सरकार ने जिस तरह लोकसेवा आयोग से भ्रष्टाचार खत्म करने की मुहिम छेड़ी है उससे मेहनत करने वालों के लिए सब से सुनहरा वक़्त है।

2 comments

  1. uqaabi rooh jab bedaar...
    hoti hai jawaano me....
    nazar aati hai...
    unko apni manzil..
    aasmaano me....
    Hats off for you dear...sweetheart

    ReplyDelete
  2. Mashallah maula aur tarkki ata kare ameen

    ReplyDelete

Home