.Com डा. सुनील सिंह ने धारा 10 सीपीसी पर किया विस्तृत विवेचन | Zila News

डा. सुनील सिंह ने धारा 10 सीपीसी पर किया विस्तृत विवेचन


फैजाबाद। उच्च न्यायालय इलाहाबाद द्वारा प्राप्त निर्देशों व न्यायिक प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्थान लखनऊ द्वारा दिये गये निर्देशों के अनुक्रम में वर्कशाप रेफ्रेशर व ओरियंटेशन कोर्सेस आदि के माध्यम से न्यायिक प्रशिक्षण का आयोजन हुआ। प्रशिक्षण में फैजाबाद, सुल्तानपुर, अमेठी व अम्बेडकरनगर के न्यायिक अधिकारियों ने प्रतिभाग किया।
कार्यक्रम का शुभारम्भ प्रशासनिक न्यायमूर्ति मनोज गुप्ता व जज इंचार्ज क्लस्टर ट्रेनिंग न्यायमूर्ति अश्विनी मिश्र ने मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्ज्वलित करके किया। तत्पश्चात् जनपद न्यायाधीश फैजाबाद नीरज निगम ने सभी का स्वागत किया। इस दौरान नोडल अधिकारी/अपर जनपद न्यायाधीश असद अहमद हाशमी ने कार्यक्रम के लक्ष्य व उद्देश्यों को रेखांकित किया। तत्पश्चात् न्यायमूर्ति अश्विनी मिश्र ने प्रशिक्षण कार्यक्रम की महत्ता को रेखांकित किया।
इसके बाद मुख्य अतिथि प्रशासनिक न्यायमूर्ति मनोज गुप्ता ने उपस्थित न्यायिक अधिकारियों को कार्यक्रम सहभाग करने को प्रेरित किया। साथ ही कहा कि ऐसी कार्यशालाओं के माध्यम से जब हम अपने ज्ञान को साझा करते हैं तो उससे पूरी व्यवस्था प्रगति के पथ पर आगे बढ़ती है। प्रशिक्षण कार्यक्रम को 4 सत्रों में विभाजित किया गया जिसमें जनपद अमेठी के विशेष कार्यधिकारी कुलदीप कुमार, भूमि अर्जन एवं अधिग्रहण अधिकरण के पीठासीन अधिकारी चन्द्रभान, अम्बेडकरनगर के जनपद न्यायाधीश अमरजीत त्रिपाठी, सुल्तानपुर के जनपद न्यायाधीश तनवीर अहमद ने प्रतिभाग करते हुये न्यायिक अधिकारियों को विभिन्न विषयों पर अपने ज्ञान व अनुभव से आलोकित किया।
इसी क्रम में धारा 156 (3) दं.प्र.सं. के सम्बन्ध में विभिन्न बिन्दुओं पर श्रद्धा तिवारी,  सुमन तिवारी, सर्वेश मिश्रा, सुश्री अनीता, साधना गिरि, मयूरेश श्रीवास्तव, देवेन्द्र प्रताप सिंह, तरूणिमा पाण्डेय, सक्षम द्विवेदी, सुरेश शर्मा सहित अन्य वक्ताओं ने अपना विचार व्यक्त किया। धारा 311 व 319 दं.प्र.सं. के सम्बन्ध में सुल्तानपुर के न्यायिक अधिकारी दीपांकर यादव, पूनम सिंह व मनोज शुक्ला ने लोगों का ज्ञानवर्धन किया तो धारा 10 सी.पी.सी. के सम्बन्ध में विस्तृत विवेचन वरूण मोहित निगम, विजय गुप्ता व डा. सुनील सिंह ने किया। अम्बेडकरनगर से आये अधिकारियों ने धारा 11 सी.पी.सी. व आदेश 7 नियम 10 व 11 सी.पी.सी. के सम्बन्ध में अपना विचार व्यक्त किया।
इस अवसर पर अशोक कुमार अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रथम, हरिनाथ पाण्डेय विशेष न्यायाधीश एस.सी./एस.टी. एक्ट, रीता कौशिक प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय, भूदेव गौतम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश तृतीत, सत्य प्रकाश अतिरिक्त प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय, सुरेश चन्द्र आर्या अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश ई.सी. एक्ट, पूजा सिंह अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश अष्टम/गैंगस्टर अधिनियम, सुरेश चन्द्र शर्मा अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सप्तम, रवीन्द्र द्विवेदी अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश षष्ठम, अशद अहमद हाशमी अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश नवम, शैलेन्द्र वर्मा अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश दशम, श्रद्धा तिवारी अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश एकादश, वरूण मोहित निगम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश द्वादश, चन्द्र मोहन मिश्र लघु वाद न्यायाधीश, विजय गुप्ता मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट, संजीव त्रिपाठी प्रथम अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट, अभिनव तिवारी सिविल जज जू.डि. सदर, तपस्या त्रिपाठी सिविल जज जू.डि. हवेली, रश्मि चन्द्र तृतीय न्यायिक मजिस्ट्रेट, अविनाश चन्द्र गौतम प्रथम अपर सिविल जज जू.डि. आदि उपस्थित रहे।
कर्यक्रम का संचालन रवीन्द्र द्विवेदी अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश षष्ठम ने किया। अन्त में अमेठी के विशेष कार्याधिकारी कुलदीप कुमार ने समस्त आगंतुकों के प्रति आभार ज्ञापित किया।

No comments

Post a Comment

Home