.Com साइबर क्राइम से बचने के लिये सतर्कता ही जरूरी उपायः क्षेत्राधिकारी | Zila News

साइबर क्राइम से बचने के लिये सतर्कता ही जरूरी उपायः क्षेत्राधिकारी


केराकत, जौनपुर। स्थानीय नगर के पब्लिक इंटर कालेज में साइबर क्राइम व सोशल मीडिया के प्रति छात्र-छात्राओं को जागरूक किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए क्षेत्राधिकारी शुभम तोदी ने साइबर क्राइम से बचने व सोशल मीडिया से सावधानी बरतने की जानकारी दी। साथ ही कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं ने अपने अपने विचार भी रखे। उन्होंने कहा कि हर कोई आज के समय में व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर, इन्स्ट्राग्राम, स्मार्ट फोन के जरिए किसी न किसी रूप में जुड़ा हुआ है। सोशल मीडिया का प्रयोग नियमित रूप से दैनिक जीवन में किया जा रहा है। सोशल मीडिया में वह आकर्षण होता है जो युवा पीढ़ी को बहुत जल्दी अपनी गिरफ्त का शिकार बना लेता है और युवा पीढ़ी लगातार उसका प्रयोग करके उसकी आदी होती जाती है। सोशल मीडिया का जरूरत से अधिक उपयोग व्यक्ति को मानसिक रूप से थका देता है। इसके दुष्चक्र में फंसने के बाद उससे उबरना आसान नहीं होता है। उन्होंने विद्यार्थियों को सचेत करते हुए कहा कि सोशल मीडिया से उन्हें दूरी बनानी चाहिए। एक निश्चित समय पर उसका सीमित प्रयोग करना चाहिए। सोशल मीडिया का बहुत अधिक प्रयोग करने पर जीवन की गति कम तथा जटिल होती जाती है। व्यक्ति को जीवन उबाऊ और नीरस लगने लगता है। व्यक्ति अपने आस-पास होने वाली घटनाओं और लोगों के प्रति अनभिज्ञ रहने लगता है। उन्होंने विद्यार्थी जीवन में ज्ञानार्जन करते हुए सोशल मीडिया से दूर रहकर लक्ष्य हासिल करने का साधुवाद दिया। व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर, इन्स्ट्राग्राम के जरिए साइबर अपराधियों से बचने के टिप्स दिए। एकाउंट और मोबाइल के पासवर्ड की जानकारी किसी नजर व्यक्ति को कदापि न दें। यदि आपकी मोबाइल और खाते की गुप्त जानकारी किसी साइबर फ्राड के हाथ लग गई तो आपके खाते का सारा पैसा चट हो जाएगा और आप के मोबाइल फोन के गोपनीय नंबर फोटो उस फ्राड के पास चला जाएगा और आप एक मुसीबत में फंस जाएंगे। अगर आप किसी भी साइबर अपराध के ठगी होते हैं तो टोल फ्री नम्बर 155260 पर शिकायत करें। छात्रों को कोई युवक फोन करके परेशान करता है और स्कूल आने जाने पर छीटाकस्सी करता है तो इन नम्बर 1098 पर शिकायत करें। इस अवसर पर प्रधानाचार्य आरडी सिंह, रमाशंकर विश्वकर, हरेंद्र यादव, प्रवीण सिंह, राजेंद्र सिंह, मनोज सिंह, सुनिल सरोज, जूही सिंह, प्रीति सिंह, बीनू सिंह आदि अध्यापक रहे।

No comments

Post a Comment

Home