.Com जीवन और मौत के संघर्ष में जूझ रही गर्भवती महिला को मिला जीवनदान | Zila News

जीवन और मौत के संघर्ष में जूझ रही गर्भवती महिला को मिला जीवनदान


 रिपोर्टर मोहम्मद कयूम 
शाहगंज जौनपुर होने की घड़ी नजदीक थी और शाहगंज के भादी निवासी जीनत की हीमोग्लोबिन रिपोर्ट बेहद नाजुक.. ब्लड ग्रुप भी बेहद रेयर, बी निगेटिव.. ऐसे में मसीहा बनकर आए समाजसेवी शिक्षक आनंद वर्मा ने रात 2 बजे के करीब खुद जाकर रक्तदान किया और जच्चा बच्चा की जान बचाई।सामाजिक संस्था जेसीआई शाहगंज सिटी के अध्यक्ष आशीष जायसवाल ने बताया कि उनकी संस्था “नीड ब्लड, कॉल जेसी” मुहिम चलाती है।
जिसके तहत जरूरतमंदों को एक फोन कॉल पर रक्त मुहैया कराया जाता है। इस मुहिम के संयोजक और संस्था के पूर्व अध्यक्ष दीपक जायसवाल के पास रात 12 बजे सूर्या हॉस्पिटल के सर्जन डॉ सुधाकर मिश्रा की कॉल आती है कि एक महिला के लिए बी निगेटिव ब्लड ग्रुप के रक्त की तत्काल जरूरत है। खोजबीन के बाद पता चलता है कि संस्था के वरिष्ठ सदस्य और पेशे से सरकारी शिक्षक आनंद वर्मा का ब्लड ग्रुप बी निगेटिव है। इतनी रात में भी उन्हें कॉल करने पर सकारात्मक जवाब मिलता है और आनंद झट तैयार होकर रक्तदान के लिए रात के 2 बजे नगर स्थित अनीता हॉस्पिटल के ब्लड बैंक पहुंच जाते हैं। समय पर रक्त की जरूरत पूरी हो जाने से जच्चा और बच्चा दोनों की जान बच जाती है।

No comments

Post a Comment

Home