.Com जौनपुर। बुधवार की रात 12 बजे के बाद अचानक मौसम का मिजाज बदल गया | Zila News

जौनपुर। बुधवार की रात 12 बजे के बाद अचानक मौसम का मिजाज बदल गया

जौनपुर।  बुधवार की रात 12 बजे के बाद अचानक मौसम का मिजाज बदल गया। इस दौरान चली तेज आंधी चलने लगी। कुछ ही देरबाद गरज-चमक के साथ बारिश होने लगी। आंधी के चलते जहां कई लोगों के छप्पर उड़ गए वहीं बिजली के खंभे व तार गिरने से विद्युत आपूर्ति बाधित हो गई। इस दौरान बाहर सोए एक वृद्ध की नीम के पेड़ के नीचे दबने से मौत हो गई। बारिश का क्रम रुक-रुक गुरुवार की सुबह नौ बजे तक बना रहा। इसके बाद आसमान साफ हुआ धूप निकली। हालांकि अन्य दिनों में 42 व 43 डिग्री रहने वाला तापमान 37 डिग्री दर्ज किया गया। 

महराजगंज थाना क्षेत्र के कोबी निवासी राम दवर (70) अपने घर के सामने रात में नीम के पेड़ के नीचे सो रहे थे। तड़के तीन बजे एकाएक तेज आंधी की वजह से नीम का पेड़ धराशाई हो गया, जिसके नीचे दबने से रामदवर गंभीर रूप से घायल हो गए। स्वजन आनन-फानन इलाज के लिए उन्हें बदलापुर स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जा रहे थे कि रास्ते में ही उनकी मौत हो गई। मृत वृद्ध रेलवे से सेवानिवृत्त हुए थे। मौत की खबर मिलते ही स्वजनों में कोहराम मच गया। वहीं बदलापुर में आंधी व बारिश की वजह से दो दर्जन से अधिक बिजली के खंभे व तार धराशाई होने से आपूर्ति ठप हो गई है, जिससे उपभोक्ताओं को भारी समस्याओं का सामना करना पड़ा। सुबह अचानक तेज आंधी आने से लोग सहम गए। देखते ही देखते बारिश शुरू हो गई। तेज आंधी के चलते सिगरामऊ उपकेंद्र क्षेत्र में 17, लेदुका में एक, बदलापुर में दो, महराजगंज में दो, सहोदरपुर में तीन बिजली खंभे व तार गिर गए। इसके अलावा कई पेड़, छप्पर, टिनशेड उड़ गए। बारिश के चलते ईंट भट्ठों पर पाथी गई ईंट को भी भारी नुकसान हुआ। एसडीओ रंजीत कुमार ने बताया कि गिरे तार-खंभों को ठीक किए जाने का काम युद्धस्तर पर कराया जा रहा है। बरईपार क्षेत्र में बारिश की वजह से खेतों में रखा भूसा भीग गया। हालांकि यह बारिश जायद की फसलों के लिए बेहतर बताई जा रही है। किसान रमेश चंद्र यादव ने बताया कि इस समय उरद, मक्का सहित तरबूज, खरबूज, ककड़ी और साग-सब्जियों की बोआई की गई है। बरसात से फसलों को लाभ हुआ है। उधर, हल्की बारिश में ही सुजानगंज थाने के बगल स्थित तिराहा पर पानी भर जाने से लोगों को फजीहत हुई। यह रास्ता पुरानी बाजार को मुख्य मार्ग से जोड़ता है। हालांकि बारिश का क्रय केंद्रों पर कोई खास असर नहीं हुआ। मछलीशहर विपणन केंद्र पर किसान अपनी गेहूं बेचने के लिए पहुंचे रहे हैं। वरिष्ठ विपणन निरीक्षक प्रमोद यादव ने बताया कि गोदाम में पर्याप्त स्थान है, जिससे किसी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ है।

No comments

Post a Comment

Home