.Com खेतासराय(जौनपुर) 12 मई प्राचीन सभ्यताओं का प्रतीक गाजी मियां का मशहूर मेला | Zila News

खेतासराय(जौनपुर) 12 मई प्राचीन सभ्यताओं का प्रतीक गाजी मियां का मशहूर मेला

खेतासराय(जौनपुर) 12 मई प्राचीन सभ्यताओं का प्रतीक गाजी मियां का मशहूर मेला भारी तपिश में भी जायरीनों पर कोई असर नहीं दिखा। पताका बांध कर अपनी अपनी मन्नते मांगी और मेले को आगे बढ़ाया।बुधवार की शाम मनेच्छा से शुरू हुआ मेला खेतासराय पहुचा। सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। गंगा जमुना तहज़ीब की मिशाल इस क़दर रही की यहाँ मुस्लिम से ज़्यादा हिन्दू भाई शरीक रहे।


विविध आस्थाओं का प्रतीक गाजी मिया का मेला में सुबह से ही भारी हुजूम उमड़ पड़ा।बॉस की बल्ली पर सिक्का और अन्य सामान बाध रहे थे। अब तक डफाली बिरादरी के ही लोग मेले की जिम्मेदारी संभाल रहे है। मान्यता है कि लहभर पर कपड़ा बाधने से जिन्न का साया और टोटका खत्म होजाता है। चना की दाल, तनूरी से पूरा मेला गाह महक उठा। मेले में असमाजिक तत्व भी सक्रिय दिखे। पर्स और मोबाइल पर भी उचक्कों ने हाथ जम कर फेरा। 
मनेच्छा से शुरू हुआ मेला खेतासराय के बाद बेलवाई होते हुए बहराइच जाकर समाप्त हो जाता है। मेले में जायरीनों के लिए जगह जगह प्याऊ का इन्तिजाम सामाजिक संगठनो ने किया था। मेला देखने आए अभिवाहको के साथ बच्चों ने जमकर लुत्फ़ उठाया। इस बार मेले में सर्कस और झूला न होने की वजह से लोग मायूस दिखे। मेले में पूर्वांचल के अलग अलग जनपदों के हज़ारों लोग शामिल रहे। कोविड के चलते मेला दो वर्ष से स्थगित रहा।
डिप्टी एसपी अंकित अंकित कुमार थानाध्यक्ष श्रीप्रकाश राय के सुरक्षा व्यस्था का जायज़ा लेते दिखे। महिला जायरीनों की मदद के लिए महिला सिपाहियों की भी ड्यूटी लगाई गई। विभिन्न संगठन के लोग श्रद्धालुओं को पानी अन्य सुविधाए उपलब्ध कराते दिखे।

खेतासराय कस्बे का मुख्य रोड रहा डायवर्जन* |
  गाजी मिया उर्फ़ बाले मिया के मेले के मद्देनजर देखते हुए प्रशासन ने गुरुवार की पूर्वाह्न 11 बजे नेशनल हाईवे पर स्तिथ खेतासराय मुख्य मार्ग को रुट डाइवर्जन कर दिया। जौनपुर से शाहगंज जाने वाली ट्रैफिक को खुटहन और दीदारगंज मार्ग पर पुलिस मोड़ दे रही थी कि जबकि शाहगंज से आने वाले वाहन को गोरारी मार्ग पर रोक रानीमऊ मार्ग पर मोड़ दे रही थी। डीएसपी  शाहगंज अंकित कुमार ने बताया कि सुरक्षा के लिहाज़ से अतिरिक्त तीन दर्जन कांस्टेबल के अलावा एक निरीक्षक और चार दरोगा की तैनाती की गई है।

No comments

Post a Comment

Home