.Com जौनपुर। जनपद में 20 जुलाई को राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस मनाया जाएगा। | Zila News

जौनपुर। जनपद में 20 जुलाई को राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस मनाया जाएगा।

जौनपुर। जनपद में 20 जुलाई को राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस मनाया जाएगा। इस दौरान एक से 19 वर्ष तक की आयु के बच्चों को कृमि संक्रमण से बचाव के लिए एलबेंडाजोल की गोली खिलाई जाएगी। यह दिवस ग्रामीण और शहरी क्षेत्र दोनों में मनाया जाएगा। नोडल अधिकारी तथा अपर मुख्य चिकित्साधिकारी (एसीएमओ) डॉ0 राजीव कुमार ने बताया कि राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस पर 20 जुलाई को दवा खाने से वंचित बच्चों को आच्छादित करने के लिए 25 से 27 जुलाई के बीच मापअप चरण आयोजित होगा। 

 लक्षित आयुवर्ग - आंगनबाड़ी केंद्रों पर एक से पांच वर्ष तक के सभी पंजीकृत बच्चों एवं छह से 19 वर्ष तक के सभी स्कूल न जाने वाले बालक/बालिकाओं, ईंट भट्टों पर काम करने वाले श्रमिकों एवं घुमन्तू लाभार्थियों को आंगनबाड़ी केंद्रों पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के माध्यम से एलबेंडाजोल टैबलेट खिलाई जाएगी। छह से 19 वर्ष तक के सभी छात्र-छात्राओं को सरकारी, सहायता प्राप्त, प्राइवेट स्कूलों एवं मदरसों में शिक्षकों के माध्यम से एलबेंडाजोल की गोली खिलाई जाएगी। 20 जुलाई को अनुपस्थित रहने वालों या अन्य कारणों से दवा खाने से वंचित रह गए बच्चों को मापअप दिवस पर 25 से 27 जुलाई के बीच स्कूलों एवं आंगनबाड़ी केंद्रों पर दवा खिलाई जाएगी। जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस की तैयारियों की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 लक्ष्मी सिंह को राष्ट्रीय कृमि दिवस का प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने सभी स्कूलों एवं आंगनबाड़ी केंद्रों पर आवश्यकतानुसार एलबेंडाजोल की गोली 19 जुलाई की शाम तक उपलब्ध करा देने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने जिला विद्यालय निरीक्षक (डीआईओएस) तथा जिला बेसिक शिक्षाधिकारी (बीएसए) को निर्देशित किया कि राष्ट्रीय कृमि दिवस पर सभी लक्षित बच्चों को शिक्षकों के माध्यम से एलबेंडाजोल की गोली खिलाना सुनिश्चित कराएं। वह एलबेंडाजोल टैबलेट स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त कर लें। जिलाधिकारी ने बाल विकास एवं पुष्टाहार (आईसीडीएस) विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी (डीपीओ) को दिशा-निर्देश के अनुरूप आंगनबाड़ी केंद्रों पर लक्षित बच्चों को एलबेंडाजोल की खुराक देना सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने कहा कि एलबेंडाजोल की गोली सामने खिलाना है, किसी को घर ले जाने के लिए नहीं देना है। उन्होंने बताया कि जनपद में कुल 21,57,173 बच्चों को एलबेंडाजोल की गोली खिलाई जानी है। सीएमओ डॉ0 लक्ष्मी सिंह ने बताया कि एलबेंडाजोल की गोली खाली पेट नहीं खिलाना है ताकि एलबेंडाजोल ज्यादा असरकारक रहे।

No comments

Post a Comment

Home