.Com हिन्द के धरातल पर हिन्दू-मुस्लिम एकता कि पह्चान मिटाना असम्भव | Zila News

हिन्द के धरातल पर हिन्दू-मुस्लिम एकता कि पह्चान मिटाना असम्भव

जौनपुर - देश मे हिन्दु मुस्लिम एकता की मिशाल विश्व के मानचित्र पर आज यह सन्देश दे रहा है कि इस देश मे नफ़रत का तूफ़ान  चाहे जितना  प्रलय मचाले लेकिन हिन्दु - मुस्लिम भाई चारे को धरातल के दिलो से मिटाना नामुम्किन ही नही असम्भ्व भी है ।
कुछ इसी प्रकार कि मिशाल जौनपुर के मुसलमानो ने कर दिखाया । उनके कर्य को देख लोग सुफ़ी सन्तो द्वरा किये गये प्रेम को याद कर ने लगे । बुद्धवार को मुसलमनो ने इम्दाद फ़ाउनडेशन के तत्वधान मे बोल-बम कावरिया जत्थे को मञ्च लगा लगाकर पानी , बिस्किट, दवा का वितरण किया । हाला कि शिराजे हिन्द जौनपुर कि धरती सदियो से हिन्दू- मुस्लिम एकता और भाई - चारा की मिसाल रही और सुफ़ी -सन्तो , ऋशीयो, मुनियो के एकता की पह्चान कायम रहा । जिसके कारण आज भी सामाजिक सद् भाव और एकता कि अविरल धारा प्रवाहित होती रहती है । इस अवसर पर फ़ाउण्डेशन की पह्ली पह्चान बने अकरम जौनपुरी ने कहा कि हिन्दुस्तान पुरी दुनिया मे साम्प्र दायिक सौहार्द का केन्द्र रहा है । इस अवसर पर फ़ाउन्देशन के अध्य जाहिद ने कहा कि आअज के दिन बोल -बम कावरिया के भाईयो का इस मञ्च पर स्वागत है क्यू कि हमारे यह भाई पवित्र कार्य के लिये पवित्र नगरी काशी के लिये प्रस्थान कर रहे है । मञ्च पर सुधीर सहु ने कहा कि धार्मिक पूजन कर्ने जारहे कावरियो कि सेवा से बडा कोई पूनीत कर्य नही है । यह कर्य ईस्वर के प्रती स्नेह और भक्ती को दर्साता है । उन्होने मुस्लिम भाईयो का आभार प्रकट किया । इस मौके पर मोहम्मद आसिम ,मोहम्मद शाद , देवेन्द्र मोदन्वाल , अतुल गुप्ता , मोहम्म्द अर्शद , अकरम अनसारी , मोहित मौर्य , फ़ैजान अन्सारी , हफ़ीज शाह , सलाउद्दीन आदी लोग उपस्थित रहे ।

No comments

Post a comment

Home