.Com बारह साल की उम्र में फुरकान होगया हाफिजे कुरआन | Zila News

बारह साल की उम्र में फुरकान होगया हाफिजे कुरआन

जौनपुर : नगर के मदरसा जामिया हुसैनिया लाल दरवाजा जौनपुर में एक १२ वर्ष
के बालक ने हाफिजे कुरआन बन कर अपने माता -पिता और उस्ताद का नाम रोशन
किया | बालक के हिफ्ज़े कुरआन होने पर परिजनों और मदरसा के उस्तादों ने
बालक की दस्तार बंदी कर दिली मुबारक बाद दी | इस मौके पर मदरसा के उस्ताद
मौलाना हाफिज किताबुल्लाह ने बताया की मौलाना अब्दुर्रहमान कासमी के १२
वर्षीय पुत्र मुहम्मद फुरकान ने मेरे सानिध्द में रह कर हिफ्ज़े कुरआन
मुकम्मल किया है | हाफिजे कुरआन की फजीलत बयान करते हुए मदरसे के मौलाना
हाफिज किताबुल्लाह ने फ़रमाया की हदीसे पाक से यह साबित है की जब किसी
मोमिन का बच्चा हाफिजे कुआं बनता है तो मैदाने महशर में वह अपने माँ -
बाप की बख्शीश कराएगा और हाफिजे कुरआन के सर पर चमकता हुआ ताज रखा जाएगा
| उन्होंने ाआगे बताया की हाफिजे कुरआन अपने खानदान की भी शफ़ाअत कराएगा
और सब को लेकर जन्नत में जाएगा | हाफिज किताबुल्लाह ने बताया की एक
हाफिजे कुरआन जब कब्रगाह से गुजरता है तब उसे देख कर गुनहगार मुर्दों पर
से अजाब हटा लिया जाता है जब तक हाफिजे कुरआन कब्रगाह से दूर नहीं चला
जाता | इस मौके पर १२ वर्षीय बालक हाफिजे कुरआन मुहम्मद फुरकान को फूलों
की माला से नवाजा गया |

1 comment

  1. Masha allah bhut khushi ki bat h ki hamare ustade mohtarm ka ladka itni kam umr me quran e pak ka hifz mukammal kiya
    Allah us ladke ko aur uske pariwar ko sukun ki zindagi naseeb kare
    aur uski barkat se puri ummat ko deene islam par khatna naseeb kare

    ReplyDelete

Home