.Com स्कूलों में संस्कारयुक्त शिक्षा की आवश्यकताः सांसद | Zila News

स्कूलों में संस्कारयुक्त शिक्षा की आवश्यकताः सांसद

जौनपुर। सन्त एकेएस पब्लिक गर्ल्स इण्टर कालेज सोनिकपुर इण्टर कालेज मेहरावां का 19वां वार्षिकोत्सव एवं स्व. अशोक सिंह की पुण्यतिथि पर समारोह आयोजित हुई। इस मौके पर मुख्य अतिथि सांसद डा. केपी सिंह ने कहा कि शिक्षण संस्थानों में बेहतर शिक्षा देने के साथ संस्कार की भी शिक्षा देना जरुरी हो गया है। बालिकाओं की शिक्षा को सरकार भी बढ़ावा दे रही है। विशिष्ट अतिथि समाजसेवी एवं उद्योगपति ज्ञान प्रकाश सिंह ने कहा कि शिक्षक एक शिल्पकार की तरह होता है। जिस तरह से शिल्पकार विभिन्न पत्थरों को तराश करके एक अच्छी आकृति बनाता है, उसी तरह से शिक्षक बच्चों के भविष्य की आकृति को तैयार करता है। उन्होंने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति स्व. एपीजे अब्दुल कलाम कहा करते थे कि सपना अगर देखिये तो बड़ा देखिये। उस सपने व लक्ष्य को पूरा करने के लिये सोच भी बड़ी होनी चाहिये। उन्होंने छात्र-छात्राओं को सलाह दिया कि जीवन में अगर कोई कठिनाई आये तो उसका सामना धैर्यपूर्वक करना चाहिये तभी सफलता मिलती है। कार्यक्रम की अध्यक्षता विश्व हिन्दू गोरक्षा विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. गुरू प्रसाद व संचालन डा. अजय सिंह ने किया। इसके पहले प्रबंधक ने मंचासीन अतिथियों को अंगवस्त्रम् एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। तत्पश्चत् छात्राओं ने समाजसेवी ज्ञान प्रकाश सिंह की मां पर कारुणिक गीत सुनाकर लोगों को भाव-विभोर कर दिया। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि प्राचार्य डा. अब्दुल कादिर खान, माउण्ट लिट्रा जी स्कूल के निदेशक अरविन्द सिंह, अमित सिंह, नरसिंह बहादुर सिंह, सुधाकर सिंह, संजय सिंह, प्रधानाचार्य डा. सुभाष सिंह, लक्ष्मीकांत सिंह, अरविन्द शुक्ला, आईबी सिंह, पूर्व सभासद विनय सिंह, बबलू सिंह सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

No comments

Post a comment

Home