.Com बच्चों में छिपी प्रतिभाओं को केवल निखाने की जरूरतः डा. अजय | Zila News

बच्चों में छिपी प्रतिभाओं को केवल निखाने की जरूरतः डा. अजय

जौनपुर। जनपद के करंजाकला क्षेत्र में संचालित सोशल स्टडी प्वाइण्ट आफ आईटी एण्ड मैनेजमेंट कम्प्यूटर सेण्टर का वार्षिकोत्सव सम्पन्न हुआ। मुख्य अतिथि वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के छात्र कल्याण अधिष्ठाता डा. अजय द्विवेदी ने कहा कि ग्रामीणांचल में बच्चों के अन्दर प्रतिभाएं बहुत हैं। केवल निखारने की जरूरत है। यदि बच्चों को शिक्षा के साथ सामाजिक, सांस्कृतिक मंच मिले तो निश्चित ही अपनी कला का प्रदर्शन करेंगे। आज बच्चों को पढ़ाई के साथ तकनीकी ज्ञान का होना अति आवश्यक है। केवल किताबी ज्ञान से ही अब जीवन व्यतीत करना मुश्किल है। आज के बच्चे कम्प्यूटर शिक्षा प्राप्त कर विभिन्न सरकारी व गैरसरकारी संस्थाओं में कार्य कर रहे हैं। विशिष्ट अतिथि सत्य नारायण व राधेश्याम ने संयुक्त रूप से कहा कि बगैर शिक्षा के व्यक्ति पशु के समान है। शिक्षा ही व्यक्ति को अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाता है। अध्यक्षता करते हुये सुनील यादव अध्यक्ष प्रधान संघ करंजाकला ने कहा कि शिक्षक बच्चों के चरित्र का निर्माता होता है। बच्चे को तराश करके उसे योग्य बनाना शिक्षक का कर्तव्य है। इस दौरान सेण्टर के बच्चों ने सुबह सबेरे लेकर तेरा नाम प्रभु, सरस्वती वंदना, आरती, धार्मिक नाटक, देशभक्ति, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, कान्हा काटे चुटकी, हिन्दू मुस्लिम सिख ईसाई, जहां पांव में पायल, हाय राम कईसन कईसन मोर सासु रे, जीना है तो पापा शराब मत पीना, आज एकांकी के माध्यम से नित्य गायन प्रस्तुत किया जो मनमोहक रहा। इस अवसर पर सोचन राम, मुन्ना लाल, बच्चू लाल विश्वकर्मा, दीपक, शिवा सेठ, रंजना, निशा, रोशनी, गुंजा, प्रियंका नितिन, रोशनी, सर्वे श, सूरत अखिलेश सहित तमाम लोग उपस्थित रहे। कार्यक्रम  में संस्थान के 10 टापर्स बच्चों को गोल्ड मेडल व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन सामाजिक कार्यकर्ता रमेश यादव ने किया। अन्त में सेण्टर के संचालक राम सागर विश्वकर्मा ने समस्त आगंतुकों के प्रति आभार व्यक्त किया।

No comments

Post a comment

Home