.Com जौनपुर व मछलीशहर में छिटपुट घटनाओं के बीच चुनाव सकुशल सम्पन्न | Zila News

जौनपुर व मछलीशहर में छिटपुट घटनाओं के बीच चुनाव सकुशल सम्पन्न

जौनपुर। मछलीशहर (सुरक्षित) सहित जौनपुर संसदीय क्षेत्र का चुनाव रविवार को छिटपुट घटनाओं सहित कुछ प्रशासनिक कमियों के बीच सकुशल सम्पन्न हो गया जहां शाम को दोनों सीट के कुल 35 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला ईवीएम में कैद हो गया। जौनपुर के 1899 व मछलीशहर के 1935 बूथों पर हुये चुनाव के बाबत सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था थी जबकि जिलाधिकारी व आरक्षी अधीक्षक के अलावा तमाम प्रेक्षक मयफोर्स मतदान केन्द्रों का भ्रमण करते नजर आये। चुनाव को लेकर 40 कम्पनी केन्द्रीय सुरक्षा बलों के साथ 15 हजार पुलिसकर्मी पूरी व्यवस्था पर नजर रखे हुये थे जिसके बीच सुबह 7 बजे से शुरू हुई मतदान प्रक्रिया 6 बजे सकुशल सम्पन्न हो गयी। बता दंे कि जौनपुर सीट से 20 एवं मछलीशहर सीट से 15 प्रत्याशी चुनाव मैदान पर थे जिनके भाग्य का फैसला क्रमशः 18 लाख 66 हजार एवं 18 लाख 45 हजार मतदाताओं में से लगभग 55 प्रतिशत लोग ईवीएम में अपना मत दे दिये जिसका फैसला आगामी 23 मई को होगा। चुनाव को लेकर जहां सुरक्षा हेतु जिले के सभी 9 विधानसभा क्षेत्रों को 31 जोन व 261 सेक्टर में बांटकर 40 कम्पनियों में 6 हजार केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल सहित प्रदेश के अलावा पंजाब, चण्डीगढ़ से पुलिस के जवानों को तैनात किया गया था, वहीं जिले की सीमाओं को सीज करते हुये आने-जाने वाले वाहनों सहित सभी व्यक्तियों की कड़ी निगरानी रखी गयी थी।
मां शीतला चौकियां धाम के पास स्थित देवचन्दपुर वार्ड नम्बर 32 के रामदासपुर नेवादा के कई मतदाता मतदान करने से वंचित रह गये। बीएलओ विजयलक्ष्मी से पूछा गया तो वह चुप हो गयी। उमेश चन्द्र गुप्ता एडवोकेट, जितेन्द्र जायसवाल, रामगोविंद, विशाल, मोहित जायसवाल एडवोकेट, सुधीर, राहुल, फरदीन, पंकज, नीरज, कमलेश, संदीप, सोनू, शिवम, अनुज, आशीष, गीता सहित तमाम लोगों ने इसे प्रशासनिक लापरवाही बताया।
इसके अलावा मुक्तेश्वर प्रसाद बालिका इण्टर कालेज एवं प्राथमिक विद्यालय मियांपुर में भी सैकड़ों मतदाता उस समय मतदान करने से वंचित रह गये जब मतदान केन्द्र पर पहुंचने पर पता चला कि मतदाता सूची में उनका नाम ही नहीं है। फिलहाल मतदाता जब वोट देने पहुंचे तो उन्हें मतदान स्थल से बिना वोट दिये मायूस होकर लौटना पड़ा। सभी लोगों ने कहा कि यह प्रशासन की लापरवाही है जो पहली बार नहीं है, क्योंकि इसके पहले भी ऐसा हो चुका है। डा. एचएन पाण्डेय, प्रदीप यादव सहित तमाम लोगों ने कहा कि एक चुनाव में नाम रहता है एवं दूसरे चुनाव में कट जाता है, यह समझ से परे है।
नगर के राजा श्रीकृष्ण दत्त स्नातकोत्तर महाविद्यालय में बने मतदान केन्द्र पर उस समय उपस्थित लोगों ने चौकी प्रभारी शकरमण्डी सगीर अहमद को सलाम किया जब वह एक विकलांग मतदाता को अपनी गोद में उठाकर मतदान कराने हेतु जाने लगे।
चंदवक संवाददाता के अनुसार स्थानीय बाजार के बूथ पर मतदान करने को लेकर हंगामा हो गया जिसके बाद जमकर पथराव भी किया गया। पथराव में सीआरपीएफ का एक जवान भी घायल हो गया जिसे उपचार हेतु अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहीं हंगामा करने वालों में से एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। मामला चन्दवक थाना क्षेत्र के राष्ट्रीय विद्या मंदिर पर बने मतदान केन्द्र का है।
खुटहन संवाददाता के अनुसार स्थानीय थाना क्षेत्र के अकबरपुर बूथ के पास स्थित एक मकान पर भाजपा का झण्डा लगा था जहां एक पुलिसकर्मी द्वारा उसे उतारते समय भाजपा कार्यकर्ताओं ने उससे नोक-झोंक कर लिया तथा मारपीट भी दिया। हालांकि  सूचना पर पहुंची पुलिस बल ने मामला को शान्त कराया। भाजपा कार्यकर्ताओं का आरोप है कि पार्टी का झण्डा उतारने के बाद पुलिसकर्मी ने झण्डे से अपने जूते को साफ किया। वहीं सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे जिलाधिकारी व आरक्षी अधीक्षक मामले की जानकारी लिया।
मुंगराबादशाहपुर संवाददाता के अनुसार स्थानीय विस क्षेत्र के सटवा पोलिंग बूथ संख्या 210 पर मतदान विलम्ब से शुरू हुआ। मतदान केन्द्र पर पहुंचे प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री सुभाष पाण्डेय ने प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया। साथ ही कहा कि 7 बजे तक मतदान शुरू नहीं किया गया जो लापरवाही है। उन्होंने जिला निर्वाचन अधिकारी का ध्यान आकृष्ट करते हुये कहा कि इस तरह की बदइंतजामी से लोकतंत्र के महापर्व पर मतदान प्रभावित होता है।
वहीं मछलीशहर संवाददाता के अनुसार स्थानीय संसदीय क्षेत्र के गनापुर में ईवीएम में गड़बड़ी होने के चलते मतदान विलम्ब से शुरू हुआ।
बरसठी संवाददाता के अनुसार स्थानीय क्षेत्र के बूथ संख्या 282 पर मतदाता उमाशंकर सिंह को देखकर उस समय अचम्भित हो गये जब वह वाराणसी के मणिकर्णिका घाट पर अपने बड़े भाई की चिता जलाकर सीधे मतदान केन्द्र पर पहुंचकर मतदान करने के लिये कतार में खड़े हो गये। मतदान केन्द्र पर उपस्थित मतदाताओं ने उमाशंकर के लोकतंत्र के प्रति जज्बे को देखकर सलाम किया।
शाहगंज संवाददाता के अनुसार अच्छी व्यवस्था के बीच लोकसभा चुनाव सम्पन्न कराये जाने का चुनाव आयोग का दावा कुछ बूथों पर हवा-हवाई दिखायी पड़ा। ऐसा ही उदाहरण शाहगंज विधानसभा के इण्टर कालेज खुटहन के भाग संख्या 345 के बूथ पर देखने को मिला। इस बूथ पर बिजली की व्यवस्था ही नहीं रही। चुनाव ड्यूटी पर मौजूद कर्मियों को भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। इस मामले की जानकारी सुपरवाइजर संतोष बिन्द से ली गयी तो उन्होंने पहले बताया कि लाइट की व्यवस्था की गयी है लेकिन बाद में बताया कि बिजली समेत अन्य व्यवस्था करने के लिये ग्राम प्रधान से कहा गया है।

No comments

Post a comment

Home