.Com शिक्षकों के जान की अनदेखी कर मूल्यांकन कराना पड़ेगा मंहगाः फौजदार | Zila News

शिक्षकों के जान की अनदेखी कर मूल्यांकन कराना पड़ेगा मंहगाः फौजदार


जौनपुर। माध्यमिक वित्तविहीन शिक्षक महासभा के प्रान्तीय प्रदेश महासचिव फौजदार सिंह अखिलेश ने कहा कि लॉक डाउन की अवधि में शिक्षकों की जान जोखिम में डालकर उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन कराना समझ से परे है। सरकार का यह निर्णय अत्यन्त ही संवेदनहीन है। कोरोना महामारी की भयावहता से बचाव हेतु एक तरफ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी घरों में पूर्णतया लॉक डाउन रहने की अपील कर रहे हैं, वही प्रदेश सरकार माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों के जान से खिलवाड़ कर रही है। श्री सिंह ने कहा कि केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय जहां सीबीएसई की उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन घर भेजकर कराने का निर्णय ली है, वहीं प्रदेश के शिक्षा मंत्री अपनी चलाने के लिये पूर्ण लॉक डाउन में भी मूल्यांकन कराकर अपनी पीठ थपथपाना चाह रहे हैं। इसके लिये शिक्षकों के जान तक की चिन्ता नहीं कर रहे हैं। शिक्षक नेता ने कहा कि उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन कराने की किस जल्दबाजी में हैं, यह समझ से परे है। अगर प्रदेशवासियों ने पूर्ण बहुमत के साथ सत्तासीन किया है तो उनकी सुरक्षा भी आपकी जिम्मेदारी है। आज कोई भी निर्णय ले सकते हैं, क्योंकि आप समर्थ हैं लेकिन शिक्षक समाज की अनदेखी मंहगी पड़ सकती है।

No comments

Post a comment

Home